सपनों का हमारे जीवन में महत्व

Dreams Importance in our life:

सपनों की दुनिया – हक़ीक़त या फ़साना :
क्या सपनों का हमारे जीवन में कोई महत्व है ?
क्या सपने हमें कोई सन्देश देने के लिए आते हैं ?
या सपनों का देखा जाना daily life का एक हिस्सा मात्र है ?

Dream related ऐसे बहुत सारे सवाल मेरे जेहन में अक्सर आते रहे हैं। और इन सवालों के जवाब search करने निकला तो ढेरों किताबें, ढेरों article अलग-अलग बातें बताते हुए मिले। तार्किक बाते करने वाले या यूँ कहूँ कि विज्ञानं कहता है कि आपके दिनभर के किर्या-कलापों का असर आपके सपनों पर  होता है। आप जैसा पढ़ते हैं, देखते हैं या सुनते हैं वही आपको सपनों में दिखाई देता है। लेकिन धर्म से जुड़े लोगों से बात करो तो वो कहेंगे सपने ऐसे  ही नहीं आते बल्कि आपकी intuition सपनों के जरिये आपको कोई message देना चाह रही होती है और इसीलिए हर सपने का कोई ना कोई मतलब होता है।

इन बातों को परखने के लिए मैंने काफी समय पहले से अपने कुछ अहम सपनों को notice करना शुरू किया। अभी कुछ समय पहले मैंने meaning of dream बताने वाली एक किताब internet से download की और अपने daily के सपनों पर नज़र रखनी शुरू की। जिससे मैं उनके meaning इस किताब में देख सकूँ।

इस सारी कवायद में मेरे लिए जो निष्कर्ष निकल कर सामने आये , उन्ही को मैं यहाँ आपके साथ share कर रहा हूँ। सपनों का महत्व(Dreams importance in our life)  समझने में ये निष्कर्ष शायद आपके भी कुछ काम आ सकें :

जब मैं सुबह उठता तो सबसे पहले इस बात पर ध्यान केंद्रित करता कि आज रात में मैंने कौनसा सपना देखा। फिर उस सपने का मतलब किताब में ढूंढता। कभी किसी सपने का मतलब होता कि कुछ अच्छा घटने वाला है तो कभी मतलब होता कि मेरे साथ कुछ बुरा होने वाला है और कभी – कभी ऐसा भी होता कि जब सपने में कई चीजें दिखती तो किताब में किसी एक का दिखना अच्छा तो दूसरी चीज का दिखना बुरा बताया गया होता।

पर मैंने एक चीज को ध्यान में रखा कि सपने का मतलब देखकर उसे उसी समय दिमाग से निकाल देता बजाय ये सोचने के कि आज तो मेरे साथ कुछ अच्छा या बुरा होने वाला है। जब मैंने इसे काफी समय तक किया तो पाया कि जो भी सपने मैं रोजाना रात में सोते हुए देख रहा हूँ उससे मेरी life में कुछ भी अच्छा या बुरा होने का संकेत नहीं मिल रहा है। बल्कि सपने में मैं वही चीजें देख रहा हूँ जिसके बारे में मैंने किसी newspaper या book में पढ़ा या Television में देखा या मेरी life में कोई घटना घटी। इसमें ये जरूरी नहीं था की मैंने जो सपना देखा वो पिछले 24 घंटे के दौरान की घटना से linked हो बल्कि ये 10 -15 – 20 दिन या कभी कभी 1 महीने पहले की घटनाओं से भी सम्बंधित रहे।

अब इससे जो निष्कर्ष निकलता है उसके हिसाब से विज्ञान सही है और सपनों का जीवन में कोई महत्व नहीं है, ये हमें कोई सन्देश नहीं देते हैं। लेकिन दोस्तों किसी भी निष्कर्ष पर पहुँचने से पहले आगे की कहानी भी पढ़ लें।

अब मैं अपने दो ऐसे सपनों के बारे में बताने जा रहा हूँ, जिनके मतलब उस किताब में बिलकुल सही दिए गए थे।  पहला सपना – ये बात उस समय की है जब मैं engineering entrance examinations की preparation कर रहा था। एक दिन रात में मैंने सपना देखा कि मैं सीढ़ी पर चढ़ रहा हूँ। 2 -3 सीढ़ी चढ़ने के बाद ही मेरा पैर सीढ़ी पर से slip हो जाता है। Slip होते ही मेरी आँख खुल जाती है, मैं अपने आप को बिस्तर पर पाता हूँ तो थोड़ा relax होता हूँ। थोड़े दिन बीतते हैं और मैं फिर से इसी सपने को देखता हूँ। घबराकर फिर मेरी आँख खुल जाती है। अब तो हर 15 -20 दिन में मुझे ये सपना दिखाई देने लगा। मैं उस समय ये बिलकुल भी नहीं सोच पाया की ये कोई संकेत है।

Entrance exams दे दिए। थोड़े दिनों में सबके result आ गए। कहीं भी अच्छी rank नहीं आई और सभी जगह payment seats पर ही जगह मिल रही थी जिसका खर्च उठा पाना मेरी family के लिए उस समय possible नहीं था। तो मैंने भी Diploma Engineering में admission ले लिया। कुछ समय बाद एक दिन अचानक ही मैंने notice किया कि सीढ़ियों से गिरने वाला सपना अब दिखाई नहीं दे रहा है। उस समय मुझे एहसाह हुआ कि मेरी intuition मुझे सपने के द्वारा ये संकेत दे रही थी ऊपर चढ़ना है तो और ध्यान लगाकर मेहनत करनी पड़ेगी नहीं तो गिर जायेगा। खैर मैंने diploma में मेहनत की और वहाँ से degree college में admission लेकर engineering में degree पूरी की और वो सपना भी मुझे फिर कभी दिखाई नहीं दिया। सपनो का मतलब बताने वाली किताब में भी सीढ़ियों से गिरने का मतलब असफल होना ही दिया गया है।

दूसरा सपना मैंने उस समय देखा जब मैंने अपना business करना शुरू किया। एक दिन मैंने सपने में देखा कि मैं अपने college campus में हूँ। किसी एक subject में मेरे back आई हुई है और मैं examination hall में बैठा उसका exam दे रहा हूँ। जबकि बिना किसी back के college से pass-out हुए मुझे 7 साल से ज्यादा हो चुके थे। कुछ दिन बीते, मुझे यही सपना फिर से दिखाई दिया। अब मुझे doubt हुआ कि ये कोई-न-कोई संकेत है। इसलिए मैंने जानकार लोगों से इस बारे में बात की। पर कोई भी मुझे इसका सही मतलब नहीं बता पा रहा था। ये सपना भी अब मुझे हर 15 -20 दिन या 1 महीने में जरूर दिखाई दे रहा था। मैं ये तो समझ ही चुका था कि ये कोई न कोई संकेत है पर उसका मतलब पता नहीं चल पा रहा था। मैं business में असफल हो गया और फिर एक दिन मुझे अपना business बंद करना पड़ा। और अब अपना सारा ध्यान मैंने अपनी Job पर लगा दिया। business बंद करने के साथ ही मुझे exam में बैठने का सपना आना बंद हो गया। पिछले 2 वर्षों में मैंने ये सपना एक बार भी नहीं देखा। इस सपने का मतलब जब मैंने book में देखा तो उसमे अपने आप को exam देते हुए देखने का मतलब काम में असफल होना बताया गया है।

अब इससे जो निष्कर्ष सामने आते हैं उसके हिसाब से हमारे द्वारा देखे गए ज्यादातर सपनो का कोई मतलब नहीं होता। वो सिर्फ दिमाग में अंकित हो गयी किसी घटना, चित्र या बात का प्रतिरूप है। दिमाग किसी एक घटना या बहुत सारी घटनाओ को जोड़कर हमें सपनों के रूप में दिखा देता है। लेकिन यदि कोई एक ही तरह का सपना बार-बार दिखाई दे रहा है तो सचेत हो जाने की जरूरत है, क्योंकि फिर हमारी intuition हमें कुछ बताना चाह रही है जिसे समझना बहुत जरूरी है। नहीं तो मेरी ही तरह आपको भी असफलता का मुँह देखना पड़ सकता है।

हमारा कोई article पसंद आने पर अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।
facebook page like करने के लिए यहाँ click करें – https://www.facebook.com/hindierablog/
Keywords – dreams, Dreams meaning, सपना, सपनों का महत्व, dreams importance in our life
If you enjoyed this article, Get email updates (It’s Free)

Leave a Reply