हिंदी साहित्यकार महादेवी वर्मा जी की कविताएं और कुछ तथ्य

हिंदी साहित्यकार महादेवी वर्मा जी की कविताएं और कुछ तथ्य साहित्यिक हिंदी में बहुत से कवि और कवित्रियों के नाम शामिल हैं लेकिन महादेवी वर्मा का नाम हमेशा दर्ज रहेगा। महादेवी वर्मा जी  सर्वाधिक प्रतिभावना महान कवियित्रियों में एक है। शचीरानी गुर्टू ने भी महादेवी वर्मा को सुसज्जित भाषा का अनुपम उदाहरण माना है। कवि निराला ने महादेवी वर्मा को हिंदी के विशाल मंदिर की सरस्वती भी कहा है। महादेवी वर्मा साहित्य के छायावादी युग के चार स्तंभों में एक थीं और इनकी कई सारी कविताएं फेमस हुई थी। महादेवी वर्मा ने स्वतंत्रता के पहले का भारत देखा है और उसके बाद क … [Read more...]

महारानी पद्मावती का दिलचस्प है इतिहास- Rani Padmavati history in Hindi

महारानी पद्मावती का दिलचस्प है इतिहास Rani Padmavati history in Hindi आपने फिल्म पद्मावत तो देखी ही होगी जहां पर आपने Rani Padmavati के बारे में कुछ दिलचस्प इतिहास जानने को मिला था। कुछ विद्वानों का मानना है कि वे थीं ही नहीं बल्कि कवि मोहम्मद जायसी की कविता में की हुई कल्पना थीं लेकिन चित्तौड़ में उनके होने की बात आज भी मौजूद है। अब ये बात कितनी सच है इस पर कई इतिहासकारों की बहस आज भी है इसलिए ये उन्हें ही करने दीजिए यहां हम आपको Padmavati history in Hindi के बारे में कुछ बाते बताएंगे। रानी पद्मावकी का जन्म सिंघल में 13वीं शताब्दी में … [Read more...]

सुकरात की कहानी- बुराई करने वाले ज्योतिषी को क्यों दिया इनाम

सुकरात की कहानी- जानिए क्यों सुकरात ने अपनी ही बुराई करने वाले ज्योतिषी को इनाम दे कर भेजा यूनान के प्रसिध्द दार्शनिक सुकरात अपने शिष्यों के साथ चर्चा कर रहे थे। उसी समय एक ज्योतिषी वहां घूमता हुआ पहुंचा, जो चेहरा देखकर व्यक्ति के चरित्र के बारे में बताने का दावा करता था। वो सुकरात और उनके शिष्यों के सामने भी यही दावा करने लगा। सुकरात जितने अच्छे दार्शनिक थे, उतने अच्छे सुदर्शन नहीं थे। पर लोग उन्हें उनके अच्छे विचारों के वजह से अधिक चाहते थे। ज्योतिषी सुकरात का चेहरा देखकर कहने लगा - इसके नथुनों की बनावट बता रही है की इस व्यक्ति में क्रोध की भा … [Read more...]

तेनालीराम के रोचक किस्से कीमती उपहार:

तेनालीराम के रोचक किस्से कीमती उपहार: एक बार एक पड़ोसी राजा ने विजयनगर पर आक्रमण कर दिया. महाराजा कृष्णदेव राय और विजयनगर के सैनिकों की बहादुरी और सूझबूझ से कृष्णदेव ने यह युद्ध जीत लिया. जीत की खुशी में महाराजा ने विजय उत्सव मनाने की घोषणा की. उत्सव शुरू हो गया पर तेनालीराम किसी कारणवश सही समय पर उत्सव में ना आ पाया. उत्सव की समाप्ति पर महाराजा कृष्णदेव ने अपने दरबारियों को संबोधित किया, " यह जीत मेरे अकेले की नहीं बल्कि हम सभी की है. यह जीत हमें आपकी बहादुरी और सूझबूझ से मिली है. इसलिए इस अवसर पर हमने सभी दरबारियों को उपहार देने का निर्णय लिया … [Read more...]

Hindi Story – मारुती अवतार कथा (श्री हनुमान)

                     मारुती अवतार कथा (श्री हनुमान) दोस्तों! हिन्दू धरम में केसरी नंदन श्री हनुमान सबसे परम पूजनीय हैं| कहते हैं जो भी भक्त हनुमान चालीसा का पाठ करता हैं उसके जीवन की सारी कठनाईया सरल हो जाती हैं|आज हम आप सभी के लिए उनके जन्म की एक कथा लेकर आये हैं| सृष्टी के रचियता ब्रह्मा देव,देवी सरसवती के साथ,अपने सुनदर से लोक में निवास करते थे|उनके भवन की भव्यता और बनावट इतनी मनमोहक थी, की सभी देवी देवताओ के मन को मंत्रमुग्ध कर देती थी |उन सभी में, एक बेहद सुन्दर सेविका थी,जिसका नाम था अंजना| जो रूपमती तो थी ही, साथ ही साथ हर कार्य में भी न … [Read more...]