परमहंस योगनन्द जी के Quotes (From his book Autobiography of a Yogi)

Paramhans Yoganand Quotes in Hindi:

  • “ईश्वर सरल है। अन्य सब कुछ जटिल है। पृथ्वी के सापेक्ष जगत में निरपेक्ष मूल्यों की आशा मत करो।”  ― परमहंस योगनन्द, योगी कथामृत
    “God is simple. Everything else is complex. Do not seek absolute values in the relative world of nature.” ― Paramahans Yoganand, Autobiography of a Yogi
  • “चील-कौवे आसानी से हवा में उड़ सकते हैं। शैतान पूर्व में भी है और पश्चिम में भी। सच्चा मनुष्य वह हैजो  जो समाज में सदाचार का पालन करते हुए रहता है और क्रय-विक्रय करते हुए भी कभी एक क्षण के लिए भी ईश्वर को नहीं भूलता है। ” ― परमहंस योगनन्द, योगी कथामृत
    “The crow and the vulture easily fly in the air; the Devil is simultaneously present in the East and in the West! A true man is he who dwells in righteousness among his fellow men, who buys and sells, yet is never for a single instant forgetful of God!” ― Paramahans Yoganand, Autobiography of a Yogi
  • “हर क्षण में शांति से जियें और फिर अपने परिवेश की सुंदरता को अनुभव करें। भविष्य अपने आप सुदृढ़ हो जायेगा।” ― परमहंस योगनन्द, योगी कथामृत
    “Live quietly in the moment and see the beauty of all before you. The future will take care of itself……” ― Paramahans Yoganand, Autobiography of a Yogi
  • “आप एक मतवाले हाथी को नियंत्रित कर सकते हैं, भालुओं और शेरों के मुह को भी बंद कर सकते हैं;शेर की सवारी और कोबरा सर्पों के साथ खेल सकते हैं; आप सामान्य  चीजों को स्वर्ण में बदल कर एक अच्छी खुशहाल जिंदगी गुजार सकते हैं; आप चोरी – छिपे सारे संसार में विचरण भी कर सकते हैं ; एक नए संसार की रचना कर सकते हैं और हमेशा के लिए जवान बने रह सकते हैं, पानी पर चल व् आग में रह भी सकते हैं लेकिन मन पर नियंत्रण करना इन सबसे कही बेहतर और कठिन है।” ― परमहंस योगनन्द, योगी कथामृत
    “You may control a mad elephant;You may shut the mouth of the bear and the tiger; Ride the lion and play with the cobra; By alchemy you may learn your livelihood; You may wander through the universe incognito; Make vassals of the gods; be ever youthful; You may walk in water and live in fire; But control of the mind is better and more difficult.” ― Paramahans Yoganand, Autobiography of a Yogi
  •  “स्थिरता ही आत्मा की बलिवेदी है।” ― परमहंस योगनन्द, योगी कथामृत
    “Stillness is the altar of spirit.” ― Paramahans Yoganand, Autobiography of a Yogi
  •  “अतृप्त इच्छाओं की शक्तियाँ ही मानव दासत्व की जड़ है।” ― परमहंस योगनन्द, योगी कथामृत
    “The power of unfulfilled desires is the root of all man’s slavery” ― Paramahans Yoganand, Autobiography of a Yogi
  • “आप इस धरती पर आनंदित होने और दूसरों को आनंदित करने आये हैं।”  ― परमहंस योगनन्द, योगी कथामृत                 “You have come to earth to entertain and to be entertained.” ― Paramahans Yoganand, Autobiography of a Yogi
  • “आपको ईश्वर तक पहुँचने के लिए संघर्ष करने की आवश्यकता नहीं है, लेकिन आपको स्वयं द्वारा निर्मित उन  दीवारों को तोड़ने के लिए संघर्ष करना पड़ेगा जो आपको ईश्वर से दूर करते हैं।”  ― परमहंस योगनन्द, योगी कथामृत
    “You do not have to struggle to reach God, but you do have to struggle to tear away the self-created veil that hides him from you” ― Paramahans Yoganand, Autobiography of a Yogi
  • “वस्तुतः शरीर दिमाग द्वारा ही निर्मित और पोषित किया जाता है।” ― परमहंस योगनन्द, योगी कथामृत
    “The body is literally manufactured and sustained by mind.” ― Paramahans Yoganand, Autobiography of a Yogi
  • “धर्म हमेशा हर प्राणियों की ख़ुशी के लिए प्रयासरत रहता है। ” ― परमहंस योगनन्द, योगी कथामृत
    “Dharma (cosmic law) aims at the happiness of all creatures.” ― Paramahans Yoganand, Autobiography of a Yogi
  • “जिस व्यक्ति ने समभाव को अपना लक्ष्य बना लिया हो वह कुछ हासिल करने के पश्चात खुश नहीं होता और कुछ खो जाने या नुकसान हो जाने पर दुखी नहीं होता।  वह जानता है कि व्यक्ति इस दुनिया में खाली हाथ ही आता है और बिना कुछ लिए वापस चला जाता है।” ― परमहंस योगनन्द, योगी कथामृत
    “The one who pursues a goal of even-mindedness is neither jubilant with gain nor depressed by loss. He knows that man arrives penniless in this world, and departs without a single rupee.”  ― Paramahans Yoganand, Autobiography of a Yogi
  • “मानव मस्तिस्क भगवत – चेतना का एक अंश है।  मैं आपको दिखा सकता हूँ कि जब भी आपका शक्तिशाली दिमाग शिद्दत से किसी चीज को मान लेता है तो वो तत्क्षण घटित होने लगता है। ” ― परमहंस योगनन्द, योगी कथामृत“The human mind is a spark of the almighty consciousness of God. I could show you that whatever your powerful mind believes very intensely would instantly come to pass.” ― Paramahans Yoganand, Autobiography of a Yogi
  • “इस जहाँ में सब कुछ एक मकसद के लिए होता है और हर मकसद का एक समय निर्धारित है।” ― परमहंस योगनन्द, योगी कथामृत
    “To eberything there is a season, and a time to every purpose under the heaven.” ― Paramahans Yoganand, Autobiography of a Yogi
  • “आप अक्सर शांत हो जाते हैं लेकिन क्या आपने कभी अनुभव को विकसित किया? वे मुझे याद दिला रहे थे कि ध्यान से ज्यादा ईश्वर से प्रेम करो।” ― परमहंस योगनन्द, योगी कथामृत
    “You go often into the silence, but have you developed anubhava?” He was reminding me to love God more than meditation.― Paramahans Yoganand, Autobiography of a Yogi


हमारा कोई article पसंद आने पर अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।
facebook page like करने के लिए यहाँ click करें – https://www.facebook.com/hindierablog/

Keywords – Autobiography of a Yogi, hindi quotes, Paramhans Yoganand, Paramhans Yoganand Quotes in hindi, Quotes, परमहंस योगनन्द, योगी कथामृत

If you enjoyed this article, Get email updates (It’s Free)

Comments

  1. Good work..keep it up

  2. Deepak Mehra says:

    Very nice quotes

Leave a Reply