Hindi Moral Story – ईश्वर की मदद

Moral Stories in Hindi Language - ईश्वर की मदद : एक गाँव में माधव नाम का एक किसान रहता था। वह ईश्वर का सच्चा भक्त था। उसके दिन का अधिकतर समय पूजा-पाठ और प्रभु की स्तुति में ही बीतता। इसलिए उसे इस बात का बहुत विश्वास था कि भगवान विपरीत से विपरीत हालातों में भी उसकी मदद करेंगे। उसे पूर्ण भरोसा था कि हालात चाहे कितने भी बुरे क्यों न हो जाये, लेकिन प्रभु उसे जरूर उन हालातों से बाहर निकाल लायेंगे और उसे बचा लेंगे। एक बार गाँव में बहुत जोरों से बारिश हुई और बाढ़ के हालात पैदा हो गए। बारिश बंद नहीं हो रही थे। इस वजह से धीरे-धीरे गाँव में पानी का स्तर … [Read more...]

Hindi Story- विवेकहीन नक़ल, नहीं कराएगी सफल

Hindi Story– विवेकहीन नक़ल, नहीं कराएगी सफल ये बहुत पुरानी बात है। एक नगर में मणिचन्द नामक बहुत अमीर सेठ रहता था। यह अमीर सेठ खानदानी रईस और बहुत नेक व्यक्ति था। लोगों की सहायता करने में हमेशा आगे रहता था। एक वर्ष उसे व्यापार में बहुत घाटा हुआ और वो निर्धन हो गया। अब उसका जीवन कठिनता से गुजरने लगा। मणिचन्द बहुत चिंतित रहने लगा। एक रात उसे स्वप्न आया। एक व्यक्ति उसे साधु के वेश में दिखाई दिया। उस साधु ने सेठ से कहा, “मैं तुम्हारे पूर्वजों के द्वारा संचित किया गया धन हूँ। मैं सुबह इसी वेश में तुम्हारे पास आकर तुम्हें पुकारूँगा। मुझे देखकर तुम मेर … [Read more...]

गुरु नानक देव के आशीर्वादों का रहस्य – हिंदी कहानी

Hindi Story – गुरु नानक देव के आशीर्वादों का रहस्य एक बार गुरु नानक देव अपने शिष्यों के साथ घूमने निकल गए। चलते चलते वो एक गाँव में पहुँचे। इस गाँव के लोग बहुत ही दुर्व्यव्हारी थे। इस गाँव में कोई भी साधू संत नहीं आता था। क्योंकि गाँव के लोग साधू संतों की सेवा तो करते नहीं, उन्हें परेशान और करते थे। जब गुरु नानक देव उस गाँव के अन्दर पहुँचे तो अपनी बुरी आदतों के चलते, गाँव वालों ने उनके साथ भी दुर्व्यवहार किया। उन्होंने गाँव वालों को किसी के भी साथ दुर्व्यवहार ना करने के लिए समझाने की कोशिश की। पर गाँव वालों पर अपनी बातों का असर न होते देख गुरु … [Read more...]

राजा भीमसेन और कर्मफल

short hindi story karmfal कर्मफल: बहुत समय पहले की बात है। भीमसेन नामक एक राजा अपने राज्य में सुख से राज किया करते थे। वे एक पुरुषार्थी और चक्रवर्ती सम्राट थे।मगर उनके राज ज्योतिष ने धीरे धीरे उनकी मति ज्योतिष की तरफ पूरी तरह से मोड़ दी थी। अतः वे मुहूर्त जाने बिना कोई भी काम नहीं करते थे। राजा के इस व्यवहार से प्रजा और सभासद सभी को बड़ी चिंता होने लगी। एक दिन राजा भीमसेन अपने राज्य के दौरे पर निकले। उनके साथ राज ज्योतिष भी थे। तभी उन्हें रास्ते में एक किसान मिला जो हल-बैल लेकर खेत जोतने जा रहा था। राज ज्योतिष ने उसे रोककर कहा, “अरे मूर्ख! जानत … [Read more...]

हिंदी कहानी – बादशाह अकबर और उसकी एकाग्रता :

short hindi story akber ki kahani सच्ची एकाग्रता : एक बार बादशाह अकबर अपनी प्रजा का हाल जानने के लिए अपने राज्य में घूमने निकले। उस समय उनके साथ चार-पांच दरबारी ही थे। घुमते घुमते बादशाह अकबर एक गाँव के निकट पहुंचे, तभी उनकी नमाज का समय हो गया। उन्होंने अपने दरबारियों को कोई साफ जगह देखने को कहा, जहाँ पर वो नमाज़ पढ़ सकें। लेकिन गाँव की ओर जाते हुए रास्ते को छोड़कर कोई ऐसी जगह नहीं थी जहाँ नमाज़ अदा की जा सके। इसलिए बादशाह अकबर ने उसी रास्ते पर ही नमाज़ पढने के लिए अपनी जायेनमाज़ (नमाज़ पढने के लिए बिछाई जाने वाली चटाई) बिछा दी। बादशाह अकबर नमाज़ पढन … [Read more...]