हिंदी कहानी – बादशाह अकबर और उसकी एकाग्रता :

short hindi story akber ki kahani सच्ची एकाग्रता : एक बार बादशाह अकबर अपनी प्रजा का हाल जानने के लिए अपने राज्य में घूमने निकले। उस समय उनके साथ चार-पांच दरबारी ही थे। घुमते घुमते बादशाह अकबर एक गाँव के निकट पहुंचे, तभी उनकी नमाज का समय हो गया। उन्होंने अपने दरबारियों को कोई साफ जगह देखने को कहा, जहाँ पर वो नमाज़ पढ़ सकें। लेकिन गाँव की ओर जाते हुए रास्ते को छोड़कर कोई ऐसी जगह नहीं थी जहाँ नमाज़ अदा की जा सके। इसलिए बादशाह अकबर ने उसी रास्ते पर ही नमाज़ पढने के लिए अपनी जायेनमाज़ (नमाज़ पढने के लिए बिछाई जाने वाली चटाई) बिछा दी। बादशाह अकबर नमाज़ पढन … [Read more...]