Creative Thinking जरूरी है problems के बेहतर solutions तलाशने में

Problems के solutions चाहिए तो अभी शुरू कीजिये - Creative Thinking / Innovative Thinking मैंने अपने last article में एक कहानी share की थी- Inspirational Moral Stories | क्या आपने ढूँढा नया रास्ता? कई बार हम सोचते हैं कि कहानियाँ सिर्फ सुनने/सुनाने के लिए होती हैं। जबकि हकीकत इन कहानियों से कहीं परे है। कुछ समय पहले तक मेरी भी सोच ऐसी ही हुआ करती थी। अब आप इस कहानी को ही पढ़िए। इसमें बताया गया है कि लोगों के सामने समस्या बनी रही, लेकिन किसी ने भी उसके समाधान के बारे में नहीं सोचा। क्योंकि अगर कोई काम हो रहा है, भले ही मुशकिल तरीके से हो रहा है, … [Read more...]

Hindi Story- विवेकहीन नक़ल, नहीं कराएगी सफल

Hindi Story– विवेकहीन नक़ल, नहीं कराएगी सफल ये बहुत पुरानी बात है। एक नगर में मणिचन्द नामक बहुत अमीर सेठ रहता था। यह अमीर सेठ खानदानी रईस और बहुत नेक व्यक्ति था। लोगों की सहायता करने में हमेशा आगे रहता था। एक वर्ष उसे व्यापार में बहुत घाटा हुआ और वो निर्धन हो गया। अब उसका जीवन कठिनता से गुजरने लगा। मणिचन्द बहुत चिंतित रहने लगा। एक रात उसे स्वप्न आया। एक व्यक्ति उसे साधु के वेश में दिखाई दिया। उस साधु ने सेठ से कहा, “मैं तुम्हारे पूर्वजों के द्वारा संचित किया गया धन हूँ। मैं सुबह इसी वेश में तुम्हारे पास आकर तुम्हें पुकारूँगा। मुझे देखकर तुम … [Read more...]

आपकी सफलता में बाधक कौन है!!!

सफलता में बाधक : एक दिन एक बड़ी company के employees रोजाना की ही तरह अपने office पहुंचे तो main gate पर एक बड़ा सा board लटका हुआ पाया। इस board पर लिखा हुआ था – “कल रात उस व्यक्ति की मौत हो गई, जो इस company में आपकी growth में रुकावट पैदा कर रहा था और आपकी सफलता में बाधक बना हुआ था। हम आपको उसके funeral में invite करते हैं। आप कृपया gym room में तुरंत पहुँच जाएँ।” सभी employees को अपने एक साथी की मौत का दुःख हुआ। लेकिन साथ ही ये जानने की उत्सुकता भी बढ़ गई कि आखिर वो कौनसा व्यक्ति था, जिसने अभी तक company में हमारी growth को रोक रखा था तथा … [Read more...]

क्या आप deserving हैं !!!!!

Life me success hone ke tips: क्या आप deserving हैं !!!!! आज मैं अपनी इस post के जरिये ये बताने की कोशिश कर रहा हूँ कि आज हम जहाँ भी हैं, ईश्वर ने आखिर हमें वहां क्यों रखा है? क्यों हम लोगों मे से ज्यादातर वहां नहीं है, जहाँ होने की तमन्ना हम रखते हैं? किसी भी position पर होने की हमारी "इंसानी व्यवस्था" पर गौर कीजिए: आज हमारे समाज में किसी भी इंसान के आगे बढ़ने की “इंसानी व्यवस्था” क्या है ? हम बचपन से शुरू करते हैं। एक बार school में admission हो जाने के बाद हम examination की “इंसानी व्यवस्था” का सामना करते हैं। साल-दर-साल examinations देते … [Read more...]

How to Solve problems in life | संकट/समस्या के प्रति हमारा नज़रिया

How to Solve problems in Life: समस्या, संकट, कांटे, मुसीबतें – ये कुछ ऐसे शब्द हैं जिनका हमारी ज़िन्दगी में अक्सर आना-जाना लगा रहता है। कुछ लोग इनसे हार मान लेते हैं और कुछ इनको हरा देते हैं। हमारी ज़िन्दगी में किसी भी समस्या के आने पर हमारा दिमाग दो तरह से react कर सकता है: One Reaction for solving problems in life: लो आ गयी एक और मुसीबत, पहले ही क्या कमी थी मुसीबतों की, जो एक और आ गयी। ऊपर वाले को मुझसे कोई खास प्रेम है, जो कोई भी काम सीधे तरीके से तो होने ही नहीं देता। मेरे हर काम में कोई ना कोई अड़चन तो आनी ही है। या ऐसी ही कुछ और बाते, … [Read more...]