आपके जीवन का सबसे बड़ा रहस्य (भाग-2)

PART -1  यहाँ पढ़ें >>>

Law of attraction par Shri Rajendra Munat ji ke vichar:

 PART – 2 

“आपका हर विचार एक वास्तविक वस्तु – एक शक्ति है।”

आकर्षण का नियम दुनिया का सबसे शक्तिशाली नियम है। यह नियम ब्रह्मांड की समूची व्यवस्था, आपके जीवन के हर पल और आपके जीवन के हर अनुभव को तय करता है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कौन हैं? या आप कहाँ हैं? आकर्षण का नियम आपके समूचे जीवन के अनुभवों को आकार दे रहा है, यह सर्वशक्तिमान नियम आपके विचारों के माध्यम से ऐसा करता है, आप अपने विचारों से आकर्षण के इस नियम को सक्रीय करते हैं।

“यह सबसे महान और सबसे अचूक है, जिस पर सृजन का समूचा तंत्र निर्भर है।”

आकर्षण का नियम आपके विचारों पर प्रतिक्रिया करता है, चाहे वे जैसे भी हों।

आपका आकर्षण के नियम पर अमल करने का सबसे आसान तरीका ये है कि मैं खुद को चुम्बक मानता हूँ और ये जानता हूँ कि दूसरा चुम्बक मेरी तरफ आकर्षित होगा।

आप ब्रह्मांड के सबसे शक्तिशाली चुम्बक हैं, आप में ऐसी चुम्बकीये शक्ति है जो दुनिया की किसी भी चीज से ज्यादा शक्तिशाली है और यह अबूझ चुम्बकीये शक्ति आपके विचारों से संप्रेषित होती है।

आप कभी किसी ऐसी चीज के बारे में सोचने लगे हों, जिससे आप खुश नहीं थे। आपने उसके बारे में जितना ज्यादा सोचा वह उतनी ही ज्यादा बुरी लगने लगी। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि जब आप लगातार एक ही विचार सोचते हैं तो आकर्षण का नियम तत्काल उसी जैसे दूसरे विचार आपकी और लाने लगता है, चंद मिनटों में ही आपके दिमाग में इतने सारे दुखद विचार भर जायेंगे कि स्थिति पहले से ज्यादा बुरी दिखने लगेगी। आप इस बारे में जितना ज्यादा सोचेंगे, उतने ही ज्यादा परेशान होंगे।

इन्सान के रूप में हमारा काम अपने दिमाग में ऐसे विचार रखना है, जिन्हें हम चाहते हैं। हमें इस बारे में बिलकुल स्पष्ट होना चाहिए कि हम क्या चाहते है? ऐसा करके हम ब्रह्मांड के महानतम नियमों में से एक को सक्रिय कर देते हैं, जो आकर्षण का नियम है। आप जिस बारे में सबसे ज्यादा सोचते हैं, वही बन जाते हैं। आप जिस वस्तु या व्यक्ति के बारे में सबसे ज्यादा सोचते हैं, उसे अपनी और आकर्षित भी करते हैं।

अगर आप अपने दिमाग में सोच ले कि आप क्या चाहते हैं और उसे अपना प्रबल विचार बना लें तो वह चीज आपके जीवन में प्रकट हो जाएगी।

      “विचार वस्तु बन जाते हैं”

मैं कपोल कल्पना या काल्पनिक पागलपन के द्रष्टिकोण से आपसे यह बात नहीं कर रहा हूँ। मैं यह बात ज्यादा गहरी और मूल भूत समझ से कह रहा हूँ।

आपका मस्तिष्क जैसे विचार सोचता है वैसी तस्वीरें ज़िन्दगी के अनुभव के रूप में आपकी और प्रसारित होती है। 

अगर आप इस नियम को नहीं समझते हैं तो इसका मतलब यह नहीं है कि आपको इसे अस्वीकार कर देना चाहिए। हो सकता है आप बिजली को नहीं समझते हों, लेकिन इसके बावजूद आप इसके लाभों का आनन्द लेते हैं। मैं नहीं जानता हूँ कि बिजली कैसे काम करती है, लेकिन मैं यह बात जानता हूँ, आप बिजली से किसी इन्सान का डिनर पका सकते हैं और आप उस इन्सान को भी पका सकते हैं।

इश्वर का शुक्र है कि विचारों के आने और उनके साकार होने के बीच फासला होता है और समय लगता है। शुक्र है कि आपके सभी विचार तत्काल सच नहीं हो जाते हैं। अगर ऐसा होता तो हम बड़ी मुश्किल में पड़ जाते। समय लगने और देर होने से आपको फायदा होता है। इससे आपको दुबारा आकलन करने, अपनी मन चाही चीज के बारे में सोचने और एक नया विकल्प चुनने का मौका मिलता है।

अपने विचारों के बारे में जागरूक बनने के लिए आप यह संकल्प भी कर सकते हैं, मैं अपने विचारों का मालिक हूँ।” इसे बार-बार दोहराते हैं तो आकर्षण के नियम द्वारा आप सचमुच ऐसे ही बन जाते हैं।

फैसला करें कि आप क्या बनना, करना और पाना चाहते हैं। इसके विचार सोचें और फ्रीक्वेंसी भेजे, आपका सपना साकार हो जायेगा।

  • आकर्षण का नियम जीवन का महान रहस्य है।
  • आकर्षण का नियम कहता है कि समान चीजें समान चीजों को आकर्षित करती हैं। इसलिए जब आप एक विचार सोचते हैं तो आप उसी जैसे अन्य विचारों को अपनी और आकर्षित करते हैं।
  • विचार चुम्बकीय हैं और हर विचार की एक फ्रीक्वेंसी होती है। जब आपके मन में विचार आते हैं तो वे ब्रह्मांड में पहुँचते हैं और चुम्बक की तरह उसी फ्रीक्वेंसी वाली सारी चीजों को आकर्षित करते हैं। हर भेजी गई चीज स्त्रोत तक यानि आप तक लौटकर आती है।
  • आप मानवीय ट्रांसमिशन टावर की तरह हैं और अपने विचारों से फ्रीक्वेंसी प्रसारित कर रहे हैं। अगर आप अपनी ज़िन्दगी में कोई चीज बदलना चाहते हैं तो अपने विचार बदलकर फ्रीक्वेंसी बदल लें।
  • आपके वर्तमान विचार आपके भावी जीवन का निर्माण कर रहे हैं। आप जिसके बारे में सबसे ज्यादा सोचते हैं या जिस पर सबसे ज्यादा ध्यान केन्द्रित करते हैं, वह आपके ज़िन्दगी में प्रकट हो जाती है।
    **********************************
    नकारात्मक उर्जा नकारात्मक परिणाम देती है
    सकारात्मक उर्जा सकारात्मक परिणाम देती है
    अपने विचारों में, सोच में, बातचीत में, दूसरों के प्रति व्यवहार में सकारात्मकता
    लायेंगे तो आपको हमेशा सकारात्मक जीवन मिलेगा
             **********************************

                                 Part 3 ……………….. 



हमारा कोई article पसंद आने पर अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।
facebook page like करने के लिए यहाँ click करें – https://www.facebook.com/hindierablog/

Keywords – law of attraction, secret of life, आकर्षण का नियम, जीवन का रहस्य, law of attraction in hindi

If you enjoyed this article, Get email updates (It’s Free)

Leave a Reply