सफलता का रहस्य!!!!! |

How to get Success in Life:

मैंने अपने एक article सफलता की चाभी में बताया था की सफलता का कोई एक formula नहीं बनाया जा सकता क्योंकि सफलता के मायने सबके लिए अलग-अलग हैं। लेकिन सफलता पाने के के लिए कुछ basic concept हैं जो सभी जगह लागू होंगे, उनमे से एक concept यह है की हमेशा खुश रहें जिसके बारे में मैंने अपने पहले article में बात की। यहाँ पर मैं ऐसे ही एक दूसरे concept के बारे में बताना चाहता हूँ जो की सफलता हासिल करने के लिए बहुत जरूरी है। इस concept को समझने के लिए पहले एक कहानी बताता हूँ आपको।

एक बार एक लड़के ने सुकरात (Socrates यूनान के एक बहुत बड़े संत थे) से पूछा कि सफलता का रहस्य क्या है ?

सुकरात ने उस लड़के से कहा कि कल सुबह तुम मुझे नदी के किनारे मिलो। वो लड़का तय समय पर नदी के किनारे पहुँच गया जहाँ सुकरात पहले से ही उसका इंतज़ार कर रहे थे। उस नौजवान के वहाँ पहुँचते ही सुकरात ने उससे अपने साथ नदी की तरफ बढ़ने को कहा। दोनों जब नदी किनारे पहुँच गए तो सुकरात नौजवान सहित नदी के अन्दर चले गए और वहाँ से दोनों नदी में गहराई की दिशा में बढ़ने लगे। लड़के के कुछ समझ नहीं आ रहा था कि आखिर संत मुझे कहाँ और क्यों ले जा रहे हैं पर फिर भी वो उनके साथ धीरे-धीरे नदी में गहराई की तरफ बढ़ता रहा। ऐसे ही आगे बढ़ते-बढ़ते जब पानी गले की ऊपर आ गया तो सुकरात वहाँ रूक गए और नौजवान की तरफ देखकर अचानक ही उन्होंने उस लड़के का सिर पकड़ कर पानी में डुबा दिया। लड़का बाहर निकलने के लिए संघर्ष करने लगा, लेकिन सुकरात ताकतवर थे इसलिए अपनी लाख कोशिशों के बाद भी वो बाहर नहीं आ पा रहा था। सुकरात ने उसका सिर तब तक पानी में डुबाये रखा जब तक की वो मरणासन नहीं हो गया। फिर सुकरात ने उसका सिर पानी से निकाल दिया और बाहर निकलते ही वो लड़का हाँफते-हाँफते तेज़ी से साँस लेने लगा।

सुकरात ने उस लड़के से पुछा जब तुम पानी के अन्दर थे तो तुम्हे सबसे ज्यादा किस चीज की चाहत थी ? लड़के ने हाँफते -हाँफते ही जवाब दिया, “मेरी सबसे बड़ी चाहत यही थी कि किसी भी तरह में साँस ले पाऊं, मुझे वही चाहिए था और कुछ नहीं “

सुकरात ने कहा, “बस यही सफलता का रहस्य है। जब तुम सफलता के लिए इतनी चाहत पैदा कर लोगे जितनी अभी तुम्हारे दिल में साँस लेने के लिए थी, तो वो तुम्हे मिल जाएगी “

मैं जिस दूसरे concept की बात कर रहा हूँ वो यही है “चाहत – passion” . जिस दिन आपका लक्ष्य आपका passion हो जायेगा, वो आपको मिल जायेगा। जिस दिन आपका लक्ष्य आपकी रग-रग, रोम-रोम में बस जायेगा, समझ जाईएगा की सफलता हासिल करने की राह पर आपके कदम अब बहुत तेज़ी से आगे बढ़ने के लिए तैयार हैं .

More Featured article:

  1. अपनी listening skills को कैसे सुधारें?
  2. तनाव से मुक्ति कैसे पाएं 
  3. नए साल के संकल्प
  4. संकट /समस्या के प्रति हमारा नज़रिया
  5. चिंता छोड़ने का एक technical तरीका
  6. बच्चों की Birthday Party
  7. गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

हमारा कोई article पसंद आने पर अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।
facebook page like करने के लिए यहाँ click करें – https://www.facebook.com/hindierablog/
Keywords – passion, secret of success, socrates, how to get success in life, success, success tips, चाहत, नौजवान, यूनान, संत, सफलता, सफलता का रहस्य, सुकरात
If you enjoyed this article, Get email updates (It’s Free)

Comments

  1. Amit Mehta says:

    Great story, your blog is awesome…I really liked it.

  2. Thanks dear for enjoying my blog. Such appreciation always encourage me. I saw your blog, it is in Japanese language, hence I am unable to understand this. Right now I have nothing to write for new bloggers, as I am also in learning stage. But you can find blogging tips on internet, provided by many bloggers in their blogs.

  3. Anonymous says:

    Hmm it appears like your blog ate my first comment (it was extremely long) so I guess
    I'll just sum it up what I wrote and say, I'm thoroughly enjoying your
    blog. I too am an aspiring blog blogger but I'm still new to everything.
    Do you have any points for first-time blog writers?
    I'd really appreciate it.

    Feel free to visit my homepage – diy home improvement (http://www.homeimprovementdaily.com)

Leave a Reply