Short Inspirational Stories for kids :3 प्रेरक कहानियाँ

Short Inspirational Stories for kids: बच्चों के लिए 3 प्रेरक कहानियाँ: Short Inspirational Stories for kids: Story No. 1 - सुखमय जीवन का सूत्र विजय अपनी class का बहुत होनहार student था। पिछले कई दिनों से वो अपनी class में काफी उदास सा रहता था। उसके शिक्षक जानते थे कि विजय के जीवन में पिछले कुछ … [Read more...]

महान संतों की कहानी

Stories for children- महान संतों की कहानी: 1. हिंदी कहानी - स्वामी रामतीर्थ की गुरु के लिए श्रद्धा: स्वामी रामतीर्थ बचपन में गाँव के ही एक मौलवी साहब से पढ़ा करते थे। अपनी शुरूआती पढाई समाप्त होने पर अब उन्हें स्कूल भेजा जाना था। स्वामी रामतीर्थ के पिता मौलवी साहब के पढ़ाने के तरीके से काफी प्रसन्न … [Read more...]

Hindi Kahani – लालच बुरी बला है!

Hindi Kahani - लालच बुरी बला है! लालच बुरी बला है, ये sentence जब भी सुनो तो दिमाग में बचपन में सुनी एक कहानी दौड़ लगा जाती है, जिसका शीर्षक था – "The Greedy Dog." ये एक छोटी सी कहानी थी, जिसमे एक कुत्ता भूखा होने पर इधर-उधर अपने लिए खाने की तलाश कर रहा होता है। बहुत देर तक इधर-उधर भटकने के बाद कहीं … [Read more...]

Hindi Kahani – जीवन का सच्चा सुख

Hindi Kahani - जीवन का सच्चा सुख एक बार एक बहुत ही खूबसूरत गाँव था। उसकी खूबसूरती के चर्चे दूर-दूर तक फैले हुए थे। उस गाँव की खूबसूरती को देखने दूर दूर से यात्री आया करते थे। ऐसे ही एक बार एक यात्री ने जब इस गाँव की खूबसूरती के बारे में सुना तो उसमें गाँव की खूबसूरती देखने की इच्छा जाग उठी और वह … [Read more...]

Moral Hindi Story – Four Apple

Moral Hindi Story – Teacher ने पूछा question Moral Hindi Story - एक बार first class की mathematics की teacher अपनी class में बच्चों से question पूछ रही थीं। उन्होंने अपनी class के सबसे intelligent बच्चे सुनिल को खड़ा किया और उससे गणित का एक question पूछा सुनिल अगर मैं तुम्हे एक apple दूँ, फिर एक … [Read more...]

Moral Hindi Story- बुद्धिमान और निपुण कौन:

Moral Hindi Story - गुरूजी की बुद्धि परीक्षा Moral Hindi Story - नगर से बाहर एक आश्रम में पण्डित सुर्यपति अपने शिष्यों को शिक्षा प्रदान करते थे। उनसे पढने के लिए दूर-दूर से विध्यार्थी आया करते थे। पण्डित सुर्यपति अपने समय के बहुत प्रख्यात विद्वान् हुआ करते थे, उनसे पढने बड़े-बड़े राजा-महाराजाओं के … [Read more...]